Tuesday, November 21, 2017

Public Provident Fund (PPF)



Public Provident Fund(PPF)

सार्वजनिक भविष्य निधि 

PPF  क्या है ?

भारत सरकार के वित्त मंत्रालय के अंतर्गत 1968 में PPF की शुरुवात की गई।  इस योज़ना को लागु करने का मुख्य उद्देश्य लोगो को बचत करने के लिए प्रोस्ताहित करना था। इस योजना में डाला गया पैसा ,इस पर मिलने वाला ब्याज और समाप्ति के बाद मिलने वाली राशी टैक्स फ्री है। तीनो पर इन्कम टैक्स लगने वाला नहीं है।

PPF Account  कहाँ खोला जाता है ?

किसी भी पोस्ट ऑफिस में या निम्न बैंक में  PPF अकाउंट खोल सकते है।
Allahadbad Bank
Axis Bank
Bank of Maharasntra
Bank of Baroda
Bank of India
Central Bank of India
Canara Bank
Corporation Bank
Dena Bank
ICICI Bank
IDBI
Indian Bank
Indian Overseas Bank
Oriental Bank of Commerce
Punjab National Bank
State Bank of India or SBI
State Bank of Hyderabad
State Bank of Patiala
State Bank of Bikaner
State Bank of Jaipur
State Bank of Travancore
State Bank of Mysore
United Bank of India
Union Bank of India
Vijaya Bank

PPF  Account कौन खोल सकता है ?

कोई भी भारतीय नागरिक PPF Account  खोल सकता है। एक नाम से एक ही खाता खोला जा सकता है।
नाबालिक बच्चो के नाम से खाता खोला जा सकता है।
PPF  Account कौन खोल नहीं सकता है ?
HUF (हिन्दू अनडिवाइडेड फॅमिली) PPF  खाता खोल नहीं सकती।जॉइन्ट PPF  खाता खोला नहीं जाता। ग्रैंड पैरेंट अपने नाती - पोतो  के  नाम से खाता खोल नहीं सकते। NRI PPF ख़ाता खोल नहीं सकते।   

PPF में निवेश की सिमा :-

एक साल में  कम से कम रू.५०० और ज्यादा से ज्यादा १.५० लाख जमा कर सकते है। साल में एक किश्त या  १२ किश्तो  में भी जमा कर सकते है।

PPF  का कार्यकाल :-

PPF की अवधि १५ वर्ष की होती है। १५ वर्ष पुरे होने पर इसे एक वर्ष या पांच पांच साल आगे बढ़ा सकते है।

PPF  का ब्याज दर :-

PPF की ब्याज दर केंद्र सरकार द्वारा तीन महीने बाद तय की जाती है। 01.07.2017 से PPF  की ब्याज दर 7.9 % तय की गई है। ३१ मार्च तक ब्याज खाते में जमा किया जाता है।

  कालावधी                                            ब्याज दर 
01 March 2001 –  28 Feb 2002              9.5%
 
01 March 2002 –  28 Feb 2003              9%
 
01 March 2003 –  30 Nov 2011             8%
 
01 Dec    2011 –  31 Mar 2012             8.6%
 
01 April  2012  –  31 Mar 2013             8.8%

01 April 2013   –  31 Mar 2016             8.7%

01 April 2016  – 30 June  2016             8.1%

01 July 2016   –  30 Sept 2016             8.1%

01 OCT 2016 – 31 Mar 2017               8.00%

01 April  2017                                     7.9%
इन्कम टैक्स का लाभ :-
इन्कम टैक्स के Sec. 88  तहत लाभ मिलता है। PPF से मिलाने वाला ब्याज और PPF खाते की अवधि समाप्ती के बाद मिलने वाली रकम पर कोई इन्कम टैक्स नहीं लगेगा।
PPF  खाते  का नामांकन :-
PPF खाते का उत्तराधिकारी एक या दो को बनाये जा सकता है। एक से ज्यादा उत्तराधिकारी बनाये जान पर उनकी हिस्से दारी भी तय की जा सकती है।
PPF  खाते  का  स्थानांतरण :-
PPF खाते को पोस्ट ऑफिस से बैंक या बैक से पोस्ट ऑफिस। एक ब्रांच से दूसरी ब्रांच में ट्रान्सफर किया जा सकता है।
PPF समय के पहले आंशिक निकासी :-
PPF खाते का लोक इन पीरियड १५ साल का होता है। लेकिन सात साल बाद कुछ रकम Pre mature withdrawal आप कर सकते है।
१ अप्रैल २०१६ से PPF नियम में बदलाव :-
पहले १५ साल का कार्यकाल ख़त्म होने से पहले PPF की पूरी रकम निकाली  नहीं जा सकती थी।
लेकिन अप्रैल २०१६ के बाद अगर आपके PPF  खाते को पांच साल से ज्यादा का समय हो चूका है। खाते को बंद भी कर सकते हो  और जमा की गई पूरी रकम निकाल भी सकते है। उसके लिए कुछ कन्डीशन रखी गई है। अगर आप या आपकी पत्नी ,बच्चा किसी गंभीर बीमारी से बीमार है। या अपने बच्चो को उच्च शिक्षा के लिए रकम की आवश्यकता है। तो ही आप पूरी रकम निकाल  सकते है। १ फीसदी ब्याज पेनल्टी की बतौर  कटेगा।  


No comments:

Post a Comment

Thank you for comment